Essay on An Ideal Teacher in Hindi – एक आदर्श शिक्षक पर निबंध

Essay on An Ideal Teacher in Hindi

प्राचीन काल से शिक्षकों को राष्ट्र के स्तंभों के रूप में सम्मानित किया गया है। देश का भविष्य उनकी शिक्षाओं पर निर्भर करता है। कमजोर और भ्रष्ट शिक्षक समाज का सर्वनाश कर सकते हैं। जबकि, एक आदर्श शिक्षक जो अपने पेशे के प्रति समर्पित है और अपनी जिम्मेदारियों से अवगत है एक शिक्षित, अनुशासित और ईमानदार राष्ट्र का निर्माण करता हैं ।

एक आदर्श शिक्षक अपने विषय में निपुण होता है और फिर भी ज्ञान के प्रति उसकी भूख कभी संतुष्ट नहीं होती है। वह अपने ज्ञान को अपने छात्रों में स्थानांतरित करने की क्षमता रखता है और उन्हें संस्कारवान बनाने का प्रयास करता है। वह न केवल उनकी कठिनाइयों को समझता है, बल्कि उन्हें दूर करने के लिए हर सम्भव प्रयास करता हैं। उन्हें कठिन विषय को रोचक तरीके से पढ़ाने की कला आती हैं। वह कमजोर छात्रों की मदद करता है और बुद्धिमानों को अधिक ज्ञान इकट्ठा करने के लिए प्रोत्साहित करता है। वह अपने छात्रों के लिए प्रेरणा स्रोत होता हैं।

एक आदर्श शिक्षक समय की पाबंदी, सतर्कता और अनुशासन पर जोर देता है। वह हमेशा निष्पक्ष रहता है। वह जो भी उपदेश देता है उसका स्वयं भी अभ्यास करता है। वह सरल जीवन और उच्च विचार के आदर्श में विश्वास करता है। वह छात्रों दवारा किये गए प्रशनों या दोष निकालने की आलोचना नहीं करता है बल्कि विनम्रता से उनकी कमजोरियों को दूर करता है। वह अपने छात्रों को अज्ञानता और आधारहीन अंधविश्वास को दूर करना सिखाता है। वह उन्हें सच्चाई और ज्ञान का मार्ग दिखाता है। वह उन्हें समाज और देश के प्रति अपने कर्तव्यों के प्रति जागरूक करता है। इसीलिए एक आदर्श शिक्षक राष्ट्र के लिए एक बड़ी संपत्ति है क्योंकि वह अपने छात्रों को आदर्श नागरिक बनाने की कोशिश करता है।

एक आदर्श शिक्षक को एक दोस्त, एक दार्शनिक और एक मार्गदर्शक के रूप में देखा जाता है। वह छात्रों के चरित्र के सच्चे निर्माता हैं। एक अच्छे शिक्षक का मिलना सौभग्य की बात हैं। जो लोग आदर्श शिक्षक की निगरानी में रहते हैं वो भाग्यशाली होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: