400 words Essay on dussehra festival in Hindi- दशहरा पर निबंध

भारत एक उत्सव प्रधान देश हैं, जहाँ प्रत्येक त्यौहार का किसी-न-किसी ऋतू से संबंध होता है। दशहरा शीत ऋतू के प्रधान त्यौहारों में से एक है जो दिवाली से बीस दिन पहले आश्विन मास की शुक्ल दशमी की तारीख को मनाया जाता है। इस दिन श्री राम ने लंकापति रावण पर विजय प्राप्त की थी इसलिए इस त्यौहार को असत्य पर सत्य की जीत के रूप में भी मनाया जाता हैं. Here we are with 400 words essay on Dussehra festival in Hindi- दशहरा पर निबंध.

 

Essay on Dussehra festival in Hindi- दशहरा पर निबंध

दशहरा देश भर में विभिन्न नामों और तरीकों से मनाए जाने वाले महत्वपूर्ण हिंदू त्यौहारों में से एक है। यह हर साल सितंबर या अक्टूबर महीने में दीवाली के त्यौहार से बीस दिन पहले आता है। दशहरा त्यौहार बुराई पर सच्चाई की जीत को इंगित करता है क्योंकि भगवान राम ने इस शुभ दिन राक्षस राजा रावण को पराजित किया था। दशहरे के दिन हिंदू लोग देवी दुर्गा और भगवान राम की पूजा करते हैं। यह एक महान धार्मिक त्यौहार है जिससे लोगो की धार्मिक भावनाएं जुडी हुई हैं।

दशहरा दस दिन का त्यौहार है, जिसमें प्रथम 9 दिन देवी दुर्गा की पूजा करके नवरात्रि महोत्सव के रूप में मनाये जाते है और दसवें दिन विजय दशमी को बहुत उत्साह और भक्तिके के साथ मनाया जाता है। इस दिन लोग हथियारों, वाहनों और किताबों की भी पूजा करते हैं। यह वह समय है जब लोग अपने परिवार और दोस्तों के साथ मिलकर एक अच्छा समय बिताते हैं।

हम दशहरा क्यों मनाते हैं? इस दिन के पीछे बहुत रोचक कहानी है। हिंदू शास्त्र रामायण के अनुसार, ऐसा कहा जाता है कि भगवान राम ने इस दिन रावण को मारकर, सीता को उसकी लंबी कारावास से मुक्त करवाया था। यह भी माना जाता है कि नवरात्रि त्यौहार के दसवें दिन, देवी दुर्गा ने राक्षस महिषासुर का वध किया था , इसलिए लोग इस शुभ दिन पर श्री राम के साथ-साथ देवी दुर्गा की पूजा भी करते हैं।

दशहरे के त्यौहार का जश्न मनाने के लिए, विभिन्न स्थानों पर कई मेले लगाए जाते हैं, जो पुरे 10 दिन तक चलते हैं। दशहरे से नौ दिन पहले त्यौहार के दौरान राम के जीवन पर आधारित नाटक, रामलीला आयोजित की जाती हैं जिससे देखने मे बहुत आनंद आता हैं । लोग त्यौहार के माध्यम से विशेष रूप से बच्चे मेले में होने वाली गतिविधियों का आनंद लेते हैं। स्वादिष्ट भोजन, झूलों पर झूलना, अनेक प्रकार के खेल खेलना और रामलीला देखना मेले के प्रमुख आकर्षण होते हैं. दसवें दिन रावण उसके भाई कुंभकरन और बेटे मेघनाथ की प्रतिमाओं को जलाने से रामलीला उत्सव सम्पात हो जाता हैं।

दशहरा भारत का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है जो हिंदू धर्म के लोगों द्वारा पूर्ण उत्साह, प्रेम, विश्वास और सम्मान के साथ मनाया जाता है। असत्य पर सच्चाई की जीत इस त्यौहार का मुख्य संदेश है। हमें इस संदेश को समझना चाहिए और जीवन में इसे लागू करना चाहिए कि बुराई पर सदैव सत्य की जीत होती ही है।

इस निबंध को इंग्लिश में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे Essay on Dussehra Festival in English

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.